देहरादून। आंदोलनकारी सम्मान परिषद की पूर्व अध्यक्ष सुशीला बलूनी की पहल पर राज्य आंदोलनकारियों के एक दल को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के आश्वासन दिए जाने के बाद कि आंदोलनकारियों की मांग जल्दी पूरी की जाएगी। इस अवसर पर इस आश्वासन को देखते हुए राज्य आंदोलनकारियों के क्षैतिज आरक्षण, भू कानून, चिह्नीकरण व अन्य मामलों को लेकर शनिवार को मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित घेरा डालो डेरा डालो कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया है। आज चिह्नित राज्य आंदोलनकारी संयुक्त समिति के केंद्रीय मुख्य संरक्षक और उत्तराखंड कांग्रेस के उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने इस फैसले की जानकारी देते हुए बताया कि आंदोलनकारियों के नेता जगमोहन सिंह नेगी, प्रदीप कुकरेती, अंबुज शर्मा आदि सुशीला बलूनी के साथ आज मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मिले।

मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया कि वह जल्द आंदोलनकारी मांगों को पूरा करेंगे। इस अवसर पर धीरेंद्र प्रताप ने इसे आंदोलनकारियों की विजय बताया और सुशीला बलूनी के प्रयासों की भी प्रशंसा की उन्होंने कहा यह आंदोलनकारियों के संगठित प्रयासों का प्रतिफल है। उन्होंने आंदोलनकारियों से अपनी एकता बनाए रखने की अपील की और नए वर्ष की शुभकामनाएं देते हुए विश्वास व्यक्त किया कि राज्य आंदोलनकारियों के भू कानून लोकायुक्त जैसे नैतिक सवालों पर और राज्य के विकास के सवालों पर सरकार गंभीर विचार करेगी। बेरोजगारी कृषि को जंगली जानवरों द्वारा पहुंचाए जा रहे नुकसान स्वास्थ्य सेवाओं और ग्रामीण विकास को लेकर नए वर्ष में नई पहल होगी।