हरिद्वार। आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उत्तराखंड में हर रोज बड़े पैमाने पर की जा रही बिजली कटौती को दुर्भाग्यपूर्ण और सरकार की विफलता बताते हुए कहा कि जिस प्रदेश पर अन्य प्रदेशों को भी बिजली आपूर्ति करने की जिम्मेदारी होनी चाहिए। वह प्रदेश खुद बिजली के लिए तरस रहा है, यह सरकार का कुप्रबंधन है। आम आदमी पार्टी इसके लिए प्रदेश भर में आंदोलन करेगी। आम आदमी पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष नरेश शर्मा ने लगातार हो रही बिजली कटौती के लिए सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि लंबे संघर्ष के बाद जब प्रदेश का गठन किया गया, तो पर्यटन और ऊर्जा राज्य की आमदनी के सबसे बड़े आधार बताए गए थे।

उत्तराखंड पहले से ही ऊर्जा के लिए धनी क्षेत्र रहा है, लेकिन प्रदेश सरकार की विफलता के चलते हालात यह हो गए हैं कि यहां अपने खर्चे के लिए भी बिजली उपलब्ध नहीं है। हर रोज जनता के हितों पर कुठाराघात करते हुए कई कई घंटे तक बिजली की कटौती की जा रही है। दूसरी और दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार मुफ्रत में बिजली पानी उपलब्ध करा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार उत्तराखंड सरकार को विधिवत योजना बनाकर में केवल जरूरत के हिसाब से बिजली की आपूर्ति करनी चाहिए, बल्कि यहां बिजली मुफ्त भी उपलब्ध करानी चाहिए। आम आदमी पार्टी बिजली कटौती के विरुद्ध आक्रामक रुख अपनाया कि प्रदेश स्तर पर हर विधानसभा क्षेत्र में बिजली कटौती के खिलाफ आंदोलन किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि जोशीमठ की आपदा हो कानून व्यवस्था हो या बिजली का संकट हर मोर्चे पर प्रदेश की सरकार किल साबित हो रही है।