हरिद्वार। पुलिस प्रशासन द्वारा शहर में यातायात व्यवस्था को बनाये रखने के लिए ई-रिक्शा का रूट निर्धारित किया गया है। कुछ तथाकथित नेता अपने स्वार्थ सिद्ध करने के लिए कुछ ई-रिक्शा चालकों को बहला फुसला कर पुलिस प्रशासन द्वारा निर्धारित नये रूट का विरोध कराया जा रहा है। जिसको पुलिस प्रशासन ने गम्भीरता से लिया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय सिंह ने स्पष्ट चेताया हैं कि जनहित व शहर में यातायात व्यवस्था को सुदृढता के लिए निर्धारित रूट के विरोध की आड़ में जाम लगाने वालों पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा। बताते चले कि शहर में यातायात व्यवस्था को सुदृढ बनाने के लिए ई-रिक्शाओं की बढती संख्याओं को देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय सिंह द्वारा ई-रिक्शाओं का रूट निर्धारित करते हुए शहर के तमाम ई-रिक्शा यूनियनों के पदाधिकारियों के साथ बैठक का व्यवस्था में सहयोग करने की अपील की गयी थी।

जिसपर यूनियन के पदाधिकारियों ने पुलिस प्रशासन को निर्धारित नये रूट को अपना सहयोग देने का अश्वासन दिया गया था। पुलिस प्रशासन के द्वारा शहर में बिगड़ती यातायात व्यवस्था को बनाने के लिए की गयी पहल पर शहरभर में प्रशंसा की जा रही है। लेकिन कुछ तथाकथित नेताओं द्वारा भोले भाले ई-रिक्शाओं चालकों व स्वामियों को बहला फुसला कर पुलिस प्रशासन के निर्धाारित नये रूट के विरोधा के लिए लामबंद करते उनको उकसाते हुए अपनी राजनीति रोटियां सेकने का प्रयास कर रहे है। जिसको लेकर आज भेल सैक्टर-01 रामलीला मैदान के पास ई-रिक्शाओं को एकत्रित कर जाम लगाकर प्रदर्शन किया गया। जिसको वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय सिंह ने गम्भीरता से लेते हुए स्पष्ट किया हैं कि कुछ ई-रिक्शा चालक नियम के विपरित चलकर नियमों का उल्लंघन कर रहे है। जिसको किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने जानकारी दी हैं कि शहर में चल रही ई-रिक्शा चालकों का सत्यापन कराया जाएगा। ई-रिक्शा संचालन के नाम पर शहर में रेकी और चोरी की वारदात को अंजाम देने के इनपुट मिले है। यदि सड़क जाम कर आमजन को परेशान करने तथा यातायात व्यवस्था में रूकावट डालने का प्रयास किया गया तो ऐेसे ई-रिक्शा चालकों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही अमल में लाते हुए उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा। पुलिस प्रशासन पूरे मामले पर अपनी पैनी नजर बनाये हुए हैं और वीडियों रिकॉडिंग की जा रही है।